Books For You

Grow Outward, Grow Inword

टीम खिलाडी के 17 अनिवार्य गुण -ऐसे व्यक्ति बने, जिसे हर टीम चाहे


टीम खिलाडी के 17 अनिवार्य गुण

जॉन सी.मैक्सवेल


ऐसे व्यक्ति बने, जिसे हर टीम चाहे

BOOKS FOR YOU CO.IN

लीडरशिप विशेषज्ञ जॉन सी.मैक्सवेल की इस पुस्तक से उन व्यक्तिगत गुणों का स्पष्ट विशलेषण हैं, जो

टीम का प्रभावी खिलाडी बनने के लिए जरुरी है । मैक्सवेल के विस्तृत विवरण और उदहारण समजने और

अमल करने में आसान है,चाहे घर हो,ऑफिस हो या फिर कोई अन्य संगठन हो ।

टीम खिलाडी के 17 अनिवार्य गुण में मैक्सवेल उन टीम खिलाडियों की सफलताओ की रुपरेखा बताते ,जो

ऐसे थे :

  • बुलंद इरादों वाले – जिनका हर कम दीर्धकालीन लक्ष्य को पाने के लिए महत्वपूर्ण होता है ।
  • संबंध जोड़ने वाले – जिनका ध्यान दुसरो पर केन्द्रित होता है ।
  • नि:स्वार्थ –जो टीम की खातिर अधीनस्थ की भूमिका निभाने के इच्छुक होते है ।
  • लगनशील – मुश्किलों के बीच भी मेहनती और आशावादी होते है ।

मैक्सवेल बताते है कि ये 17 गुण टीम और इसकी सफलता को किस तरह प्रभावित करते है । यह पुस्तक

अच्छा महसूस कराने वाले वाक्यों और अमूर्त चिंतन का दस्तावेज नहीं है , बल्कि इसमें ठोस कदम दिए

गए है, जिन पर चलकर हर टीम खिलाडी खुद को बेहतर बना सकता है ।

Advertisements

મે 23, 2011 Posted by | हिंदी पुस्तकें | , , | Leave a comment

सफल सोच का सफल जादू


सफल सोच का सफल जादू

डेविड जे. श्वार्टज़

‘The Magic Of Thinking Success’ (Hindi Translation)

इंसान की सबसे मूल्यवान अनुभूति कौन सी है ? चारों तरफ़ व्याप्त जीवन के विहंगम दृश्य को देखने की क्षमता ? गीत और भाषा की ध्वनियाँ सुनने की शक्ति ? भौतिक संसार का आनंद अनुभव करने की क्षमता ? या फिर शायद समृद्घ प्रकृति की मधुरता और सौंदर्य का स्वाद व गंध लेने की योग्यता ?

डॉ. डेविड श्वार्ट्रज़ का विश्वास है कि हमारी सबसे अधिक मूल्यवान अनुभूति है ‘‘मस्तिष्कदृष्टि’’ (mindsight)–वह क्षमता जिसके द्वारा हम अपने जीवन को सबसे संतोषजनक रूप में देख सकते हैं। परन्तु मस्तिष्कदृष्टि जीवन को सर्वश्रेष्ठ रूप में देखने की सिर्फ़ मानसिक दृष्टि ही नहीं है; यह इससे भी अधिक है। यह एक नज़रिया है और कार्ययोजना भी; यह एक सपना है और उस सपने को हक़ीक़त में बदलने की योग्यता भी।

सफल सोच का सफल जादू व्यावहारिक सुझाव देती है और भावनात्मक संबल भी देती है। इसके सहारे हम अपने अंदर छुपी शक्तिशाली ‘‘छठी इंद्रिय’’ को खोज सकते हैं और उसका प्रभावी प्रयोग कर सकते हैं। हममें से बहुत कम लोग जानते हैं कि हम क्या चाहते हैं, उसे पाने की योजना बनाने की बात तो छोड़ ही दें। फिर भी, यह तय है कि सही दिशा में चलने पर हमारा जीवन जितना रोमांचक, संतुष्टिदायक और सफल हो सकता है, उतना दिशाहीन जीवन नहीं हो सकता। यह पुस्तक हमें बताती है कि हम ख़ुद को ऐसी राह पर कैसे ले जायें, जिससे हमें सुख और संतुष्टि मिले। साथ ही, यह बहुमूल्य उपाय भी बताती है, जिससे हमें इस राह पर बने रहने में मदद मिल सके। इसमें जीवन के हर क़दम पर सफलता हासिल करने का मार्गदर्शन दिया गया है।

डॉ. श्वार्टज़ कहते हैं कि व्यक्तिगत सफलता व्यक्तिगत सुख की पर्यायवाची है। आप अपने बारे में, अपने काम के बारे में, अपने रिश्तों के बारे में और दुनिया के बारे में जैसा महसूस करते हैं, उसी अनुपात में आपकी व्यक्तिगत सफलता अधिक या कम होती है।

लेखक ने विस्तार से बताया है कि सच्चे सफल लोग वे होते हैं, जो हर नये दिन का स्वागत उत्साह, आत्मविश्वास और आशा के साथ करते हैं। उन्हें ख़ुद पर भरोसा होता है और उस जीवन पर भी, जिसे जीने का विकल्प उन्होंने चुना है। वे जानते हैं कि जीवन में सब कुछ पाने के लिए उन्हें अपना सब कुछ देना पड़ेगा। वे ‘‘प्रेम करने से प्रेम करते हैं और अपने काम से प्रेम करते हैं।’’ वे लोग दूसरों को प्रेरित करने में कुशल होते हैं और दूसरों की उपलब्धियों पर ख़ुश होते हैं। वे दूसरों का ध्यान रखते हैं, उनके साथ अच्छा व्यवहार करते हैं और बदले में उनके साथ भी अच्छा व्यवहार किया जाता है। मस्तिष्कदृष्टि द्वारा वे जानते हैं, कि मेहनत, चुनौती और त्याग जीवन के हिस्से हैं। वे हर दिन दुख को व्यक्तिगत विकास के अवसर में बदल लेते हैं। सफल व्यक्ति डर का सामना करके उसे जीत लेते हैं और दर्द को झेलकर उसे हरा देते हैं। उनमें अपने दैनिक जीवन में सुख पैदा करने की क्षमता होती है, जिससे उनके आसपास रहने वाले सौभाग्यशाली लोग भी सुखी हो जाते हैं। उनकी निश्छल मुस्कान आंतरिक शक्ति और जीवन की सकारात्मक शैली का प्रमाण होती है।

क्या आप खुद को उन लोगों में से एक मानते हैं, जिन्होंने व्यक्तिगत सफलता हासिल कर ली है ? क्या आप उतने सुखी हैं, जितने आप होना चाहते हैं ? क्या आप अपने सपनों का जीवन जी रहे हैं या फिर आप उतने से ही संतुष्ट होने की कोशिश कर रहे हैं, जो आपके हिसाब से आपको मिल सकता है ? क्या आपको हर दिन सुंदर व संतुष्टिदायक अनुभवों से भरे अद्भुत अवसर की तरह दिखता है ? अगर ऐसा नहीं है, तो डॉ. श्वार्टज़ के पास आपके लिये एक महत्वपूर्ण संदेश है : किसी को भी संपूर्ण, समृद्ध और पुरस्कार से भरे जीवन से कम पर समझौता नहीं करना चाहिये। वे ऐसे अनिवार्य नज़रिये और तरीक़े बताते हैं, जिनके द्वारा ऐसा किया जा सकता है। साथ ही वे यह भी स्पष्ट करते हैं कि व्यक्तिगत रूप से सफल होने के लिये कौन से कदम उठाना ज़रूरी है।

आप अपनी मनचाही ज़िंदगी जीने में सफल हो पायेंगे या नहीं, यह अब पूरी तरह आप पर निर्भर है। इस पुस्तक के पन्नों में जो ज्ञान दिया गया है, उसका इस्तेमाल करके आप अपने सपनों को हकी़क़त में बदल सकते हैं।

એપ્રિલ 28, 2011 Posted by | हिंदी पुस्तकें | , , | Leave a comment